• Thu. Jun 13th, 2024

नेपाल के वरिष्ठ नेता सुभाष चन्द्र नेवांग ( लिंबू ) का हृदय गति रूकने से निधन

उमेश तिवारी

काठमांडू। नेपाल के पूर्व लोकसभा अध्यक्ष और संविधान सभा के अध्यक्ष सुभाष चन्द्र नेवांग ( लिंबू ) के असामयिक निधन पर प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहाल समेत नेपाल के समस्त पार्टियों के नेताओं, बुद्धिजीवियों और प्रशासनिक अधिकारियों तथा आम नागरिकों ने गहरा शोक व्यक्त करते हुए उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की है।

प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहाल समेत सभी पार्टियों के नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

बता दें कि सुबास चंद्र नेमवांग (लिम्बु) का जन्म ईलाम जिले में 11 मार्च 1953 को हुई थी। आज 12 सितंबर 2023 को रात करीब दो बजे हृदय गति रूकने के कारण 70 वर्ष की आयु में उनका निधन हो गया। श्री नेवांग नेपाल के एक कुशल राजनेता थे, जिन्होंने नेपाल की संविधान सभा के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया । वह महेंद्र रत्न के पहले निर्वाचित स्वतंत्र छात्र संघ के अध्यक्ष थे । ईलाम में कैंपस और 1987 में नेपाल बार एसोसिएशन के महासचिव के रूप में भी वह चुने गए। फरवरी 2023 में उन्हें सीपीएन- यूएमएल से नेपाल के राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार के रूप में उतारा गया था, लेकिन वह नेपाली कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राम चंद्र पौडेल से चुनाव हार गए।

श्री नेवांग के निधन पर पूर्व प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि श्री नेवांग पार्टी के कर्मठ कार्यकर्ता और मिलनसार नेता थे। उनके निधन से पार्टी ने एक कुशल और अच्छा नेता खो दिया है। राष्ट्रपति राम चन्द्र पौड़ेल,पूर्व राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी, नेपाली कांग्रेस के नेता व पूर्व प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा,माधव कुमार नेपाल, डाक्टर बाबूराम भट्टराई, पूर्व गृह राज्यमंत्री देवेन्द्र कंडेल, राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी के सांसद व पूर्व मंत्री दीपक बोहरा, रूपंदेही जिले के मंत्री संतोष पाण्डेय समेत विभिन्न दलों के नेताओं ने उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी है।

बता दें कि श्री नेवांग के दो बच्चे हैं जिसमें एक बेटी और एक बेटा है । जो विदेश में रहते हैं। उनके आने के बाद ही उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

Leave a Reply