• Thu. Jun 13th, 2024

494 लाभार्थियों को मिली आवास की पहली किश्त, आधा दर्जन लाभार्थियों पर लेखपाल ने दर्ज कराया एफआईआर

अयोध्या/मिल्कीपुर। मिल्कीपुर में शहरी क्षेत्र से जुड़े प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 674 के सापेक्ष 494 पात्रों के लिए खुशखबरी है। सरकार ने पात्रों के पक्के आवास का सपना पूरा करने के लिए उनके खाते में प्रथम किश्त दो करोड़ 42 लाख रुपये की रकम भेज दी है, जिससे लाभार्थियों में खुशी है।

परियोजना अधिकारी यामिनी रंजन ने बताया कि पहली किश्त से निर्माण के बाद ही लाभार्थियों को दूसरी किस्त भेजी जाएगी। इसके साथ ही पैसा लेकर निर्माण न कराने वाले लाभार्थियों पर कार्रवाई होगी।मिल्कीपुर तहसील क्षेत्र के नगर पंचायत कुमारगंज के 494 लाभार्थियों के खाते में 50- 50 हजार रुपए भेजे गए हैं। सभी लाभार्थियों को पहली किश्त से आवास का निर्माण शुरू कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिन लाभार्थियों के खाते में पहली किश्त गई है, जब वह निर्माण शुरू कर देंगे, तब दूसरी किश्त जाएगी।

वहीं दूसरी ओर नगर पंचायत में आधा दर्जन आवास विवादों में फंस गए हैं लेखपाल विश्वनाथ प्रताप सिंह ने मोतीलाल पुत्र मनोज कुमार, रोहित पुत्र राम सजीवन, जगमता पत्नी विजय कुमार, मिठाई लाल पुत्र दयाराम, चैतराम पुत्र दयाराम व राम सजीवन पुत्र हौसिला के खिलाफ नामजद तहरीर देकर थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। पीड़ित लाभार्थियों का कहना है कि जिस स्थान पर हम लोग अपने आवास का निर्माण करवा रहे हैं उस स्थान पर सैकड़ों वर्ष पुराना मेरा पैतृक मकान था जिसको गिराकर जब मकान बनाना शुरू किया तो लेखपाल ने काम को रुकवा दिया।

जबकि लाभार्थी चयन में एक शर्त भूमि का स्वामित्व होना भी है। उसी मेरिट पर लाभार्थियों के चयन को प्राथमिकता मिलती है। लाभार्थी चयन की यही सूची डूडा आवास आवंटन के लिए जाती है। आरोप है कि नगर पंचायत के लेखपाल विश्वनाथ प्रताप सिंह ने एक भी लाभार्थी के जमीन के दावे का सत्यापन नहीं किया बिना सत्यापन के ही रिपोर्ट डूडा को भिजवा दिया था जब लोगों की आवास की किस्त आई और काम शुरू किए तो एफ आई आर दर्ज कराकर निर्माण कार्य बंद करा दिया।

Leave a Reply