• Thu. Jun 13th, 2024

सीएम योगी के प्रदेश में 35 करोड़ पौधरोपण के पवित्र संकल्प में अपनी-अपनी हिस्सेदारी निभानी है:कृषि मंत्री

अयोध्या। योगी सरकार द्वारा पौधरोपण अभियान 2023 के द्वारा निर्धारित लक्ष्य 35 करोड़ पौधारोपण के पूर्ति हेतु जनपद में निर्धारित लक्ष्य 41.33 लाख के पौधरोपण के प्रथम चरण का कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही द्वारा पावन सरयू तट पर राजघाट के निकट नन्दन वन का विधिवत पूजा पाठ करके पौधरोपण अभियान 2023 का शुभारम्भ किया तथा सभी ने नन्दन वन में पौधे रोपित किये।

कृषि मंत्री ने कहा कि सीएम योगी के प्रदेश में 35 करोड़ पौधरोपण के पवित्र संकल्प में अपनी-अपनी हिस्सेदारी निभानी है। उन्होंने कहा कि पौधरोपण अभियान 2023 पौधरोपण के लिए जनपद अयोध्या को 41.72 लाख का लक्ष्य शासन द्वारा प्राप्त हुआ हैं। जिसके प्रथम चरण में आज 34.38 लाख पौधों का रोपण सम्पूर्ण जनपद में किया जा रहा है तथा शेष 6.33 लाख पौधों का रोपण द्वितीय चरण में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 15 अगस्त को किया जायेगा।

जल संरक्षण करने तथा बढ़ते तापमान को नियंत्रित करने हेतु वृहद पैमाने पर पौधरोपण जरूरी

उन्होंने कहा कि हरियाली के साथ साथ जल संरक्षण करने तथा बढ़ते तापमान को नियंत्रित करने हेतु वृहद पैमाने पर पौधरोपण जरूरी है। भावी पीढ़ी को यदि बचाना है तो वृहद स्तर पर पौधोरोपण करें। उन्होंने उपस्थित बच्चों एवं विभिन्न विभागों के अधिकारियों कर्मचारियों एवं गणमान्य नागरिकों को सम्बोधित करते हुये कहा कि सभी लोग आज के दिन एक-एक पौधा अवश्य लगायें तथा अपने माता-पिता भाई बहन तथा आसपास के सभी लोग तथा सभी सरकारी कर्मचारी इस अभियान में कम से कम एक-एक पौधा अवश्य लगायें तथा मुख्यमंत्री योगी के पवित्र संकल्प जनसहभागिता के साथ सभी लोग मिल करके पूरा करें।

अधिक से अधिक वृक्ष रोपित करने से प्रकृति मजबूत होगी:जिलाधिकारी

जिलाधिकारी नितीश कुमार ने कहा कि सभी लोग पौधों को रोपित करने के साथ साथ उन्हें बड़े होने तक संरक्षित करने का संकल्प लें। उन्होंने कहा कि जनपद में आज प्रथम चरण के पौधरोपण अभियान का शुभारम्भ हुआ है। अभियान के दूसरे चरण में 15 अगस्त 2023 को रामपुर हलवारा में स्थित डेढ़ सौ एकड़ भूमि पर वृहद स्तर पर पौधरोपण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि तहसील रूदौली में 80 हेक्टेयर भूमि पर जनपद के पहले जैव विविधता पार्क के निर्माण की शासन से स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है, शीघ्र ही इसको विकसित करने का कार्य प्रारम्भ कर दिया जायेगा तथा इसे भविष्य में एक और जैव विविधता पार्क के रूप में विकसित किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि इस बार पौधरोपण अभियान जनपद में कृषक भाईयों को भी उनकी मांग के अनुरूप पर्याप्त पौधे उपलब्ध कराये गये है तथा इस वर्ष पशु पक्षियों एवं जीव जन्तुओं की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुये बनीकरण में फलदार पौधे ही अधिक लगाये जा रहे है। उन्होंने कहा कि बच्चें यहां से जाकर प्राप्त पौधों को स्वयं रोपित करें तथा लोगों को पौधरोपण हेतु प्रेरित कर इस अभियान को सफल बनायें। जिलाधिकारी ने आगे बताया कि अधिक से अधिक वृक्ष रोपित करने से प्रकृति मजबूत होगी।

इस अवसर पर कृषि मंत्री व अन्य जनप्रतिनिधियों द्वारा कृषक भाईयों को मिलेट्स यथा सावां, कोदव, बाजरा आदि के बीजों की मिनी किट्स प्रदान की गयी तथा उनके पोषक तत्वों एवं स्वास्थ्यवर्धक गुणों की जानकारी प्रदान की गयी। इस अवसर पर वृक्ष भंडारे का भी आयोजन किया गया, जिसमें कृषि मंत्री द्वारा उपस्थित बच्चों को फलदार पौधे वितरित किये गये। अन्त में जिलाधिकारी ने उपस्थित समस्त जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों एवं बच्चों आदि को पौधरोपण अभियान की बधाई देते हुये इस अभियान को सतत बनाये रखने की अपील की। वर्ष 2022 में 4099300 में जो लक्ष्य दिया गया था। उससे अधिक 4102081 पौधारोपण था उस पौधारोपण किए गए थे।

वर्ष 2023 में इन – इन विभाग में पौधारोपण किया गया

वन विभाग – 1325714

राजस्व विभाग -97106

पचांयती विभाग – 117372

ग्राम्य विकास विभाग -1163588

आवास विकास विभाग -5066

औद्योगिक विकास – 5911

नगर विकास – 19421

लोक निर्माण विभाग – 10977

सिंचाई विभाग -10977

कृषि विभाग – 233055

पशुपालन विभाग – 5911

सहकारिता विभाग- 5202

उद्योग विभाग – 8444

ऊर्जा विभाग – 4256

माध्यमिक शिक्षा – 6755

बेसिक शिक्षा – 11822

प्राविधिक शिक्षा – 4122

उच्च शिक्षा – 16044

श्रम विभाग – 2702

स्वास्थ्य विभाग -8444

परिवहन विभाग – 2533

रेलवे विभाग – 10133

रक्षा विभाग – 5066

उद्यान विभांग – 142704

पुलिस विभाग – 6147

पर्यावरण विभाग – 209412

व्यावसायिक शिक्षा – 2600

चिकित्सा विभाग – 2000

होमगार्ड नागरिक सुरक्षा और राजनैतिक पेंशन – 1250

युवा कल्याण – 1253

खाद एवं औषधि प्रशाधन – 1000

दिव्यांगजन सशक्तिकरण -1000

ग्रामीण अभियंत्रण – 700

चीनी उघोग एवं गन्ना विकास – 500

महिला एवं बालविकास -500

दुग्ध विकास – 500

नियोजन – 400

खाघ एवं रसद – 325

पिछड़ा वर्ग कल्याण -300

कुल योग – 3451162

Leave a Reply