• Thu. Jun 13th, 2024

अयोध्या में आश्रय गृह योजना के अंतर्गत बन रहे गरीबों के आवास

अयोध्या। भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या में बेघरों के लिए घर का सपना तेजी से साकार हो रहा है। आश्रय गृह योजना के अंतर्गत जरूरतमंदों को सिर पर छत मिल रही है।

केंद्र सरकार की ओर से यह महत्वाकांक्षी योजना चलाई जा रही हैं, जिसे प्रदेश की योगी सरकार तीव्र गति से अमलीजामा पहना रही है। हर कोई चाहता है कि उसके पास स्वयं का मकान हो, लोगों की इस भावना को चरितार्थ करते हुए गरीब और मध्यमवर्ग के लोगों के लिए आश्रय योजना वरदान साबित हो रही है। इस योजना के तहत अयोध्या में मकान के निर्माण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। ऐसे लोगों के लिए प्रदेश की योगी सरकार बड़ा आसरा बनी है।

आवास योजनाओं के जरिए हर तबके के पात्र लोगों को गृह निर्माण के लिए आर्थिक मदद देने के प्रावधान

योगी सरकार प्रदेश के लोगों को अपना पक्का मकान बनाने में भरपूर मदद कर रही है। इस मकसद से सरकार ने अपनी विभिन्न आवास योजनाओं के जरिए हर तबके के पात्र लोगों को आश्रय गृह निर्माण के लिए आर्थिक मदद देने के प्रावधान किए हैं। इसी कड़ी में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग के पात्र व्यक्तियों को पक्का मकान बनाने के लिए आश्रय गृह योजना में मदद दी जा रही है। इस योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के घटक शहरी बेघरों के अंतर्गत बनाया जा रहा हैं।

यह बिल्डिंग G+ तीन मंजिला का बन रहा है। जिसमें 300 लोगों के रहने की क्षमता होगी। इसे 17 हजार स्क्वायर फीट में बनाया जा रहा है। अयोध्या में स्थित अवध बस अड्डे के पास यह बिल्डिंग बनाई जा रही है। डूडा विभाग के परियोजना अधिकारी यामिनी रंजन ने बताया कि इसका कार्य 16 मार्च 2023 में शुरू हुआ था 30 अप्रैल 2024 में कार्य पूरा करने का लक्ष्य हैं। इस योजना की लागत 1722.34 लाख रुपए है।

Leave a Reply