• Thu. Jun 13th, 2024

प्रयागराज में महाकुम्भ 2025 को दिव्य एवं भव्य बनाने के लिए बैठक हुई संपन्न

प्रयागराज। महाकुम्भ 2025 को दिव्य एवं भव्य बनाने तथा प्रयागराज जनपद के स्टेक होल्डर्स के सुझावों को महाकुम्भ कार्ययोजना में सम्मिलित करने के दृष्टिगत मण्डलायुक्त विजय विश्वास पंत एवं अपर पुलिस महानिदेशक भानु भास्कर की संयुक्त अध्यक्षता में एक विशेष कार्यशाला का आयोजन शनिवार को इलाहाबाद मेडिकल एसोसिएशन सभागार में किया गया।

जिसमें महापौर गणेश केसरवानी ने बतौर मुख्य अतिथि तथा जनपद के सभी पार्षद एवं प्रमुख संस्थाओं के पदाधिकारियों ने प्रतिभाग किया। सर्वप्रथम सभी गणमान्य अतिथियों का स्वागत करते हुए जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री ने पिछले महाकुम्भ में किए गए कार्यों को संक्षिप्त में बताया तथा आगामी महाकुम्भ की रूप रेखा का वर्णन किया। तत्पश्चात् नगर आयुक्त चन्द्र मोहन गर्ग ने प्रयागराज को देश की सर्वश्रेष्ठ स्मार्ट सिटी एवं स्वच्छ शहर के रूप में विकसित करने हेतु बनायी गयी कार्य योजना प्रस्तुत की। उन्होंने सिटी सैनिटेशन प्लान के अन्तर्गत जनपद के विस्तार उपरान्त बढ़ाये गये 20 वाडों में भी शतप्रतिशत डोर टू डोर कचरा कलेक्शन महाकुम्भ से पहले प्रारम्भ कराने का आश्वासन देते हुए इस कार्य के क्रियान्वयन हेतु सभी 100 वार्डो में जनजागरूकता अभियान चलाने पर जोर दिया।

उन्होंने सूखे कचरे के शतप्रतिशत निस्तारण हेतु दो स्थल नैनी एवं झूसी में 20 मी०टन क्षमता तथा 03 स्थलों पर 150 मी0टन के एम0आर0एफ0 के संचालन का कार्य अक्टूबर, 2024 तक, गीले कचरे के निस्तारण हेतु 200 मी0टन क्षमता के बायो सी०एन०जी० प्लांट की स्थापना का कार्य अगस्त, 2024 तक तथा 15 मी0टन क्षमता के बायो गैस प्लांट की स्थापना का कार्य जुलाई, 2024 तक पूर्ण कराने का आश्वासन दिया।‌घाटों के सौन्दर्यीकरण के संबंध में नगर क्षेत्र के 21 घाटों में से 08 के सौन्दर्यीकरण हेतु डी०पी०आर० तैयार किया जा रहा है। साथ ही नगर क्षेत्र में निर्मित 120 सार्वजनिक / सामुदायिक शौचालयों के उच्चीकरण का कार्य भी कराया जाएगा। गुणवत्ता की जांच हेतु टेक्लालाजी का सहारा लेते हुए क्यू०आर० कोड के माध्यम से यूजर्स फीड बैक लेने का भी प्रबन्ध किया जा रहा है। 50 शौचालयों में सेनेटरी वेन्डिंग मशीन एवं इन्सीनेटर मशीन तथा 20 पार्कों में पिंक शौचालयों का निर्माण कराया जा रहा है। नगर क्षेत्र के 08 स्थलों पर माडल शौचालय तथा 48 सार्वजनिक शौचालय का निर्माण भी कराया जाना प्रस्तावित है।

प्रयागराज विकास प्राधिकरण द्वारा कराये जा रहे प्रमुख कार्यों की जानकारी देते हुए उपाध्यक्ष अरविन्द कुमार चौहान ने अवगत कराया कि जनपद की भव्यता को बढाने के दृष्टिगत यहां एक विशाल कल्चरल काम्प्लेक्स, इन्डोर स्पोर्टस काम्प्लेक्स पर्यटन की दृष्टि से त्रिवेणी पुष्प का नवीनीकरण एवं उच्चीकरण, जिसके अन्तर्गत वहां योगा एवं वेल्नेस सेन्टर, चार धाम के मंदिरों की प्रतिमूर्तियां, संगम आई वाच टावर तथा लोगों के मनोरंजन हेतु अन्य रीकियेश्नल गतिविधियों की व्यवस्था कराने का कार्य कराया जाएगा। इसके अतिरिक्त नवाब यूसुफ रोड, एम०जी० मार्ग, सरदार पटेल मार्ग, चन्द्रशेखर आजाद पार्क के पांड, प्रयागराज फोर्ट एवं कुछ प्रमुख फ्लाई ओवरों पर फसाड लाइटिंग तथा शहर के प्रमुख चौराहों एवं उपयुक्त स्थानों पर सोलर ट्री की स्थापना / सौन्दर्यीकरण एवं वहां पर म्यूरल्स लगाने का कार्य कराया जाएगा। अक्षयवट, पातालपुर, सरस्वती कूप एवं भारद्वाज आश्रम को और भव्यता देने के दृष्टिगत नवीनकरण / वृहद सौन्दर्यीकरण भी कराया जाएगा।

मेलाधिकारी कुम्भ मेला विजय किरन आनन्द ने अन्य कार्यों की जानकारी देते हुए बताया कि महाकुम्भ 2025 के दृष्टिगत जनपद में 15 आर0ओ0बी0 बनाये जा रहे हैं, जिसमें से 08 निर्माणाधीन है और उनका निर्माण कार्य जुलाई 2023 तक पूर्ण हो जाएगा। इसके अतिरिक्त 07 रिवर फ्रन्ट टाइप रोड जिसकी कुल लम्बाई 13.25 किमी0 है तथा सभी सुविधाओं से युक्त 07 घाट (जिसके आस-पास हरित बेल्ट विकसित की जाएगी) का भी निर्माण कराया जाएगा। अन्य कार्यों के बारे में बताते हुए मेला अधिकारी ने अवगत कराया कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा प्रयागराज रिंग रोड, प्रयागराज – रायबरेली-लखनऊ मार्ग का विकास, प्रयागराज अयोध्या तथा प्रयागराज बांदा राजमार्ग पर पड़ने वाली रेलवे कासिंग जसरा मे बाईपास का भी निर्माण कराया जा रहा है। एयरपोर्ट के विस्तारीकरण का कार्य नागरिक उड्डयन विभाग द्वारा किया जा रहा है। साथ ही एयरपोर्ट को मेला क्षेत्र से जोड़ने हेतु सूबेदारगंज में आर०ओ०बी० का निर्माण तथा एयरपोर्ट हेतु एक नये मार्ग का निर्माण भी कराया जा रहा है।

महापौर गणेश केसरवानी ने कुम्भ की परम्परा पर प्रकाश डालते हुए कुछ आवश्यक सुझाव दिए, जिनमें महर्षि बाल्मीकि जी तथा यज्ञ करते हुए ब्रम्हा जी की प्रतिमा लगाने, कुम्भ की संस्कृति को दर्शाते हुए एक वैदिक उद्यान का निर्माण कराने, हेरिटेज मोहल्लों के रूप में शहर के कुछ पुराने मोहल्लों को विकसित करने, एयरपोर्ट के बाहर प्रयाग का महत्व दर्शाती हुई प्रतिमा लगाने, बस अड्डों को शहर के बाहर शिफ्ट करने तथा मनकामेश्वर मंदिर के बाहर एक द्वार बनाने को कहा।

पुलिस आयुक्त रमित शर्मा ने महाकुम्भ 2019 के अनुभव साझा करते हुए इस यज्ञ में सभी से योगदान करने की अपील की। मण्डलायुक्त विश्वास विजय पंत ने नगर वासियों से उत्कृष्ट मेजबानी का परिचय देते हुए महाकुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं/ अतिथियों का भव्य स्वागत करने की अपील की। अपर पुलिस महानिदेशक भानु भास्कर ने महाकुम्भ के आयोजन के दृष्टिगत पूर्व की तरह वालेंटियर कल्चर को फिर से विकसित करने पर जोर दिया।

Leave a Reply