• Thu. Jun 13th, 2024

विश्व स्तरीय आवासीय स्कूल में पढ़ेंगे ग्रामीण इलाकों के मेधावी

गोरखपुर। यूपी के ग्रामीण इलाकों के मेधावी विश्व स्तरीय सुविधाओं वाले आवासीय स्कूल में पढ़ेंगे। उन्हें यह अवसर राज्य सरकार और शिव नाडर फॉउंडेशन के साझा प्रोजेक्ट ‘विद्याज्ञान’ से मिलेगा। इस प्रोजेक्ट के लिए सीतापुर और बुलंदशहर में कक्षा छह से 12 तक की पढ़ाई के लिए विद्याज्ञान स्कूल खोले गए हैं। विद्याज्ञान स्कूल में कक्षा छह में दाखिले (सत्र 2024-25) के लिए प्रदेश स्तरीय प्रारंभिक लिखित प्रवेश परीक्षा 3 दिसंबर को होगी। प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए 20 अक्टूबर तक आवेदन किया जा सकेगा।

उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों के आर्थिक रूप से पिछड़े परिवारों के मेधावी विद्यार्थियों को विश्व स्तरीय उत्कृष्ट श्रेणी की आवासीय शिक्षा नितांत निशुल्क प्रदान करने के लिए पीपीपी मॉडल पर विद्याज्ञान प्रोजेक्ट संचालित है। प्रदेश सरकार और शिव नाडर फॉउंडेशन के बीच हुए समझौता ज्ञापन के तहत प्रदेश में विद्याज्ञान स्कूल की दो शाखाएं बुलंदशहर और सीतापुर में स्थापित हैं। यहां कक्षा छह से 12 तक आवासीय व्यवस्था के साथ पूर्णतः निशुल्क शिक्षा की व्यवस्था है। अत्याधुनिक संसाधन व सुविधाओं से युक्त विद्याज्ञान स्कूल में विद्यार्थियों को इंजीनियरिंग, मेडिकल आदि की प्रवेश परीक्षा के लिए तैयारी भी कराई जाती है। पूर्ण आवासीय पद्धति पर आधारित विद्याज्ञान स्कूल में बच्चे की शिक्षा के साथ छात्रावास, भोजन, यूनिफॉर्म, पुस्तकें, कम्प्यूटर व स्मार्ट क्लास, संगीत, खेलकूद आदि की सुविधाएं भी निशुल्क हैं। स्कूल में सभी विषयों की पढ़ाई की सुविधा है।

गोरखपुर के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी रमेंद्र सिंह के मुताबिक विद्याज्ञान में कक्षा छह में प्रवेश के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित परिषदीय, अशासकीय सहायता प्राप्त, मान्यता प्राप्त निजी विद्यालयों के ग्रामीण क्षेत्रों के पात्र विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं। कक्षा पांच में अध्ययनरत विद्यार्थी ग्रामीण क्षेत्र का निवासी होना चाहिए और परिवार की वार्षिक आय दो लाख रुपये से कम होनी चाहिए। सत्र 2024-25 के लिए 20 अक्टूबर तक आवेदन के बाद प्रारंभिक लिखित परीक्षा 3 दिसंबर को दो पालियों में होगी।

प्रवेश के लिए आवेदन खण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में जमा किए जाएंगे। प्रवेश आवेदन के लिए 31 मार्च 2024 को बालक की न्यूनतम आयु 10 व अधिकतम 11 वर्ष तथा बालिका की न्यूनतम आयु 10 व अधिकतम 12 वर्ष होनी चाहिए। प्रारंभिक लिखित परीक्षा के परिणाम के आधार पर निर्धारित न्यूनतम कट ऑफ के सर्वोच्च अंक प्राप्त श्रेष्ठ विद्यार्थियों (बालक एवं बालिका अलग-अलग) के मध्य फरवरी 2024 में बॉयोमीट्रिक प्रणाली के माध्यम से मुख्य प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाएगी। दाखिला मुख्य प्रवेश परीक्षा की मेरिट पर होगा।

Leave a Reply