• Thu. Jun 13th, 2024

परंपरा की समृद्धि को मिलेगा सीएम योगी का सानिध्य नागपंचमी पर गोरखनाथ मंदिर में होगा कुश्ती प्रतियोगिता का पारंपरिक आयोजन

गोरखपुर। नागपंचमी के पावन पर्व पर गोरखनाथ मंदिर में आयोजित होने वाली कुश्ती प्रतियोगिता की परंपरा और समृद्ध होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा के अनुरूप इस प्रतियोगिता का स्वरूप प्रदेश स्तरीय करते हुए विजेता पहलवानों में लाखों रुपये की पुरस्कार राशि वितरित की जाएगी। दो दिवसीय (20 व 21 अगस्त) प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले में उत्साहवर्धन तथा विजेताओं को पुरस्कृत करने के लिए सीएम योगी 21 अगस्त को खुद मौजूद रहेंगे।

नागपंचमी पर्व पर देशज खेलों की प्राचीन परंपरा रही है। गोरखनाथ मंदिर का भी इस परंपरा से गहरा जुड़ाव है। मंदिर में हर वर्ष इस पर्व पर कुश्ती प्रतियोगिता का आयोजन होता है। कुश्ती को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर इस बार प्रतियोगिता का स्वरूप विराट कर दिया गया है।

इस कुश्ती प्रतियोगिता को लेकर शुक्रवार को प्रदेश के खेल निदेशक डॉ. आरपी सिंह ने विस्तार से जानकारी दी। प्रतियोगिता उत्तर प्रदेश केसरी (74 किलो से ऊपर), उत्तर प्रदेश कुमार (60 से 70 किलो) व वीर अभिमन्यु (50 से 60 किलो, आयु 15 वर्ष से कम) तीन वर्गों में होगी। इसमें प्रदेश के विभिन्न मंडलों, कुश्ती छात्रावासों, स्पोर्ट्स कॉलेजों के पहलवान भाग लेंगे।

उत्तर प्रदेश केसरी के विजेता को पुरस्कार के रूप में 1.01 लाख रुपये नकद व गदा तथा उप विजेता को 51 हजार रुपये प्राप्त होंगे।उत्तर प्रदेश कुमार वर्ग में विजेता को 51 हजार रुपये नकद व गदा और उप विजेता को 25 हजार रुपये की पुरस्कार राशि मिलेगी। जबकि वीर अभिमन्यु का खिताब जीतने वाले को 51 हजार रुपये नकद व गदा तथा उप विजेता को 25 हजार रुपये का पुरस्कार प्राप्त होगा।

प्रतियोगिता का उद्घाटन 20 अगस्त को महापौर डॉ मंगलेश श्रीवास्तव करेंगे जबकि समापन व पुरस्कार वितरण समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहेंगे। प्रतियोगिता की रूपरेखा की जानकारी देने के दौरान जिला कुश्ती संघ के अध्यक्ष अंतरराष्ट्रीय पहलवान दिनेश सिंह, जिला कबड्डी संघ के अध्यक्ष अरुणेश शाही, हॉकी यूपी के उपाध्यक्ष धीरज सिंह हरीश भी मौजूद रहे।

Leave a Reply